मेरान्यूज नेटवर्क, राजकोट (गुजरात): एक तरफ जहां किसानो की आय 2022  तक दोगुनी करने की मोदी सरकार बात कर रही है तो दूसरी तरफ मोदी के होम स्टेट गुजरात में ही फसल अच्छी न होने के कारण किसानो की आत्महत्या की घटनाये सामे आ रही है. गुजरात के राजकोट जिले में एक किसानने केरोसिन से आग लगाकर आत्महत्या की है. 

गुजरात के राजकोट जिले के पडधरी नजदीक रामपरा गामे में बीती रात 3 बजे सवजीभाई नरभेराम भोजानी नामक किसानने अपने शरीर पर केरोसिन छीडकने के बाद आग लगा दी थी. जिस के चलते उनकी मौत हो गई. परिवारजन का कहना है की मॉनसून खराब रहने के कारण जीरे की फसल में बर्बाद हो गईथी जिसे के चलते सवजीभाईने आत्महत्या कर ली. 

गांववालो के मुताबिक़ किसान सवजीभाई के परिवार की आर्थिक हालत इतनी खराब है की उनकी अंतिमविधि करने के पैसे भी उनके पास नहीं थे.  गांववालोने पैसा इकठ्ठा कर सवजीभाई के अंतिमसंस्कार किये. कुछ गांववालों का कहना है की किसान के परिवार में भी झगड़े चल रहे थे.