मेरान्यूज नेटवर्क.गांधीनगरः मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने राज्य में CNG स्टेशन स्थापित करने की प्रक्रिया को गति प्रदान करने के लिए दो महत्वपूर्ण फैसले लिए हैं।

इसके मुताबिक, वर्तमान में कार्यरत पेट्रोल स्टेशन में और नये शुरु होने वाले CNG स्टेशनों के लिए अनिवार्य फायर विभाग की मंजूरी, वजन मापन और स्टेम्पिंग संबंधित मंजूरियां ऑनलाइन आवेदन करने के 7 दिनों में प्रदान कर दी जाएगी।

 रूपाणी ने हाल ही में सीएनजी वाहन धारकों को सरलता से CNG गैस उपलब्ध करवाने तथा उन्हें लम्बी लाइनों से मुक्ति प्रदान करने के उम्दा उद्देश्य से गुजरात में बड़ी तादाद में सीएनजी पम्प्स शुरु करने का निर्णय लिया था।

समग्र गुजरात में दो वर्ष में 300 से ज्यादा नये CNG स्टेशन ‘सीएनजी सहभागी योजना’ के अंतर्गत राज्य सरकार की गुजरात गैस लिमिटेड और साबरमती गैस लिमिटेड द्वारा स्थापित करने का फैसला किया है।

मुख्यमंत्री ने इस सीएनजी सहभागी योजना के अमल से स्वच्छ पर्यावरण की सरकार की प्रतिबद्धता दर्शायी है। इसके लिए सीएनजी उपयोग को गति प्रदान करने के लिए गुजरात CNG डीलर एसोसिएशन ने गांधीनगर में मुख्यमंत्री से मुलाकात कर उनका आभार जताया।

एसोसिएशन द्वारा मुख्यमंत्री के समक्ष नवीन सीएनजी स्टेशन शुरु करने के लिए ऑनलाइन मंजूरी प्रक्रिया को तेज बनाने का प्रस्ताव भी रखा गया।

यहां यह उल्लेखनीय है कि सीएनजी पम्प की स्थापना प्रक्रिया को ज्यादा तेज और पारदर्शी बनाने के लिए ऑनलाइन आवेदन मंगवाए जा रहे हैं। इस योजना की समस्त जानकारी www.cngsahbhaagi वेबसाइट पर उपलब्ध है।