मेरान्यूज नेटवर्क.राजकोट: सूदखोर महिला की धमकियों से डर खुद को आग के हवाले करनेवाली पत्नी को न्याय दिलाने के लिए पतिने आत्मदाह का प्रयास किया था। मोहनभाई मालाभाई गोहेल नामक यह पति आज सुबह राजकोट पुलिस कमिश्नर कचहरी पहुंचा था। उसके एक हाथमें मिट्टी का तैल और दूसरे हाथमें जलता हुआ कपड़ा था। जिसको देखकर पुलिसकर्मियों में दौडधाम मच गई थी। हालांकि मोहनभाई कुछ भी करे उससे पहले मौके पर उपस्थित पुलिस जवानों ने उसको पकड़ लिया था। और उसके हाथों से मिट्टी का तैल और जलता कपड़ा खींच कर दूर फेंक दिया था। और उनको हिरासत में ले लिया गया था।

रैयाधार के इन्दिरानगर में रहते मोहनभाई के मुताबिक, उसकी पत्नी रंजनबेन ने दो साल पहले मोरबी रोड़ की लीलीबेन राजपूत के पाससे 20 हजार रुपये सूद पर लिए थे। लेकिन खराब माली हालातों के कारण 5-6 महीने सूद नहीं चुका पाई थी। जिसके चलते 9 अगस्त 2018 को लीलीबेन द्वारा कल तक रुपये नहीं दिए तो घर को जप्त करने की धमकी दी गई थी। 

लीलीबेन की धमकियों से डर के पत्नीने खुद को आग के हवाले कर दिया था। बादमें उन्होंने पत्नी को मरने के लिए मजबूर करनेवाली लीलीबेन के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाने का प्रयास किया था। इस बारेमें अधिकारियों से बात करने के बावजूद कोई कार्रवाई नही होने का दावा भी मोहनभाई ने किया था। जिसके चलते मरी हुई पत्नी को न्याय दिलाने के लिए आत्मदाह का प्रयास करने की बात का उन्होंने स्वीकार किया था। फ़िलहाल पुलिस ने इस मामले की जांच शुरु कर दी है।