मेरान्यूज नेटवर्क, खेड़ब्रह्मा, (गुजरात): साबरकांठा जिले के खेड़ब्रह्मा तहसील के एक गांव में परिवार ने अपनी बेटी की लाश को 18  दिन से बर्फ में संभाल के रखा है. संदिग्ध परिस्थिति में लकड़ी की लाश मिलाने के बाद परिवार का आरोप है की लड़की की ह्त्या की गई है. जब तक हत्यारो के खिलाफ कार्यवाही नहीं होगी वो पानी बेटी के अंतिमसंस्कार नहीं करेंगे.  

4 जनवरी 2019 के दिन खेड़ब्रह्मा तहसील के पांचमहुडा गांव की रहनेवाली पिंकी गमारा की लाश मेत्राल गांव के खेत मे पेड़ से लटकी मिली थी. पिंकी के परिवारजनो का आरोप है की पिंकी के साथ दुष्कर्म किया गया और उस की ह्त्या कर लाश पेड़ पर लटका दिया गया. गौरतलब है की पिंकी कॉलेज मे पढ़ाई करती थी. न्याय की मांग के साथ पिछले 18 दिन से पिंकी की लाश परिवारजन घर मे बर्फ मे रखे हुए है. परिवार की मांग है की जब तक आरोपी पकड़े नहीं जाते वो पिंकी की लाश की अंतिमविधि नहीं करेंगे.  

साबरकांठा जिले के एसपी चैतन्य मांडलिक ने इस मामले पर मीडिया को बताया की परिवार की मांग पर पिंकी की लाश का एक महिला डॉक्टर समित तीन डॉक्टर्स ने पेनल पीएम किया, उसे के बाद अहमदाबाद मे फिर से फोरंसिक पीएम किया गया. पांच संदिग्धों की पूछताछ जारी है.