मेरान्यूज नेटवर्क.राजकोट: शहर और ज़िले में स्वाईन फ्लू ने तांडव मचा दिया है। और कल रात को 3 दर्दी और आज सुबह 3 समेत पिछले सिर्फ 34 घंटेमें न सिर्फ 6 दर्दीयों की मौत हुई है, बल्कि 7 नए पॉज़िटिव केस भी सामने आए है। स्वाईन फ्लू को रोकने के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा किए गए तमाम प्रयास व्यर्थ होने के कारण अधिकारी खुद को बेबस महेसुस करने लगे है। और लोगोमें स्वाईन फ्लू का खौफ फैल गया है।

शहर के सरकारी अस्पताल में शुक्रवार देर रात को 2  बजे समढियाला की 62 वर्षीय महिला की मौत से यह सिलसिला शुरु हुआ था। सुबह 6 बजे जमकंडोरना के 55 वर्षीय पुरुष और 8 बजे के करीब गांधीग्राम क्षेत्रमें रहनेवाली महिला स्वाईन फ्लू के सामने हार गई थी। शनिवार को दिन के दौरान 7 नए पॉज़िटिव केस भी सामने आए थे। उसके बाद भी यह सिलसिला नहीं रुका है। और आज रविवार की सुबह 9 बजे धारी ज़िले की 65 वर्षीय महिला की सरकारी अस्पताल में मौत हुई है। तो 11 बजे शहर के मोचीनगर की रहनेवाली 62 वर्षीय महिला और 11:15 बजे सोनारिया गांव के पुरुष की प्राइवेट अस्पताल में मौत हो गई है।

बतादे कि, स्वाईन फ्लू का कहर राजकोट में पूरे राज्यमें सबसे अधिक दिखाई दे रहा है। और नए साल के सिर्फ दो महीनों में मृत्यु का आंक 66 पर पहुंच गया है। इतना ही नहीं 2019 में  स्वाईन फ्लू के कुल 230 पॉज़िटिव केस भी सामने आए है। हालांकि स्वास्थ्य विभाग द्वारा इस रोग पर काबू करने के लिए कई प्रयास किए गए है। लेकिन स्वाईन फ्लू के सामने सारे प्रयास बेकार होने से अधिकारी भी बेबस हो गए है।